रामायण के बारे में अनसुनी बातें जो जरुर जाननी चाहिए

0
284
रामायण के बारे में अनसुनी बातें जो जरुर जाननी चाहिए

रामानंद सागर कृत रामायण की जरुरी बातें(Ramanand sagar krit Ramayan ki jruri baate)

जहाँ आजकल सरे देश और विश्व भर में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है! वही आजकल भारत में दूरदर्शन के चैनल में कोरोना वायरस के चलते रामायण दिखाया जा रहा है! वही यह सीरियल सभी रिकॉर्ड तोड़ रहा है भारत में यह सीरियल ने नया रिकॉर्ड बनाया हुआ है! यह लॉकडाउन के दौरान सभी दर्शकों की पहली पसंद बना हुआ है! यह सीरियल पहली बार 1987 में आया था और उस दौरान भी इसको बहुत ज्यादा पसंद किया गया था! उस समय यह सीरियल सुबह 9 बजे और रात को इसका रिपीट टेलीकास्ट रात के 9 बजे किया जाता था! यह पूरा एक घंटा दिखाया जाने वाला सीरियल बना था! उसके बाद 2000 में स्टार प्लस और स्टार उत्सव में रिपीट टेलीकास्ट हुआ था!  और जून 2003 में यह धारावाहिक का नाम लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स में दर्ज किया गया उस वक़्त यह सबदे ज्यादा देखने वाला धारावाहिक था! उसके बाद इसको तमिल और तेलगु भाषा में 2008 को Dubbed किया गया! और 2015 में इसका फिर से रिपीट टेलीकास्ट किया गया था! पर अभी जहाँ पूरा देश लॉकडाउन का माहौल है वही इसने अपने नाम सबसे बड़ा रिकॉर्ड बनाया है! जहाँ पहली बार रामायण 1987 में टेलीकास्ट किया गया वही 1988 में महाभारत को टेलीकास्ट किया गया था! और अभी फिर से 2020 में इसका रिपीट टेलीकास्ट दूरदर्शन चैनल पर दिखाया गया! रामायण की रचना महर्षि बाल्मीकि ने की थी औए महाभारत की रचना वेदव्यास ने की थी!

रामायण के बारे में अनसुनी बातें

यह पढ़ें: भारत के बारे में यह जरुर जाने

और रामायण में सीताजी की खोज हनुमान जी ने की थी! जब हनुमान जी को राम जी ने लंका भेजा था तब उन्होंने माता सीता को खोजा था परन्तु माता सीता ने हनुमान जी के साथ आने के लिए इनकार कर दिया था! और मारा सीता जी ने हनुमान जी को अपनी निशानी के तौर में अंगूठी दी थी जो राम जी ने उन्हें पहनाई थी! जब राम जी ने रावण का वध किता था तो उस दिन को दशहरे के रूप में मनाया जाता था! उसके बाद राम जी के वनवास के 20 दिन बचे हुए थे जब वे अयोध्या वापिस लौटे थे! और उस दिन को दिवाली पर्व के रूप में मनाया जाता है!

यह पढ़ें: विधार्थी यहाँ से पीडीऍफ़ डाउनलोड कर सकते है

 

 

SHARE
Previous articleनेटवर्क मार्कटिंग MLM के बारे में पूरी जानकारी
Next articleलंका के राजा रावण के बारे में यह बाते सबको जाननी चाहिए
Moniveer: Moniveer PuraBharat.com में आपका तह दिल से स्वागत करता हु और PuraBharat.com पढ़ने वालो को दिल से धन्यावाद करता हूँ मेरा यह ब्लॉग बनाने का मकसद सिर्फ आप लोगों तक कुछ जरुरी जानकारी देना है! मेहनत हमेशा खामोशी से करो और जीत ऐसी करो कि तुम्हारे फैसले दुनिया को बदल दे न कि दुनिया के फैसले तुम्हें बदल सके। जब तक दिल मे हार का डर रखोगे जीतना मुशिकल हो जाएगा हार हो या जीत मैदान कभी मत छोड़ो क्योंकि हार भी बहुत जरूरी है जब तक हारोगे नही जीत का आनंद नहीं उठा सकोगे जीत भी उसी की होती है जो हारना जानता है क्योंकि जीत का असली आनंद हारा हुआ व्यक्ति ही उठा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here